Press "Enter" to skip to content

रिपोर्ट / मार्केट में डेटा साइंटिस्ट की बेहद जरूरत, ये हैं जरूरी स्किल

अगर आपमें विश्लेषण की क्षमता, प्रोग्रामिंग स्किल्स और डेटाबेस स्किल्स की समझ है तो आप डेटा साइंटिस्ट/डेटा एनालिटिक्स बन सकते हैं। यदि किसी स्टूडेंट्स ने मैथ्स, कंप्यूटर साइंस, मेकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक या एमएस किया है वो डेटा साइंटिस्ट बन सकते हैं।

इसके साथ ही कैंडिडेट्स को Python, Java, R, SAS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की भी नॉलेज होनी चाहिए। अधिकतर कंपनियां कॉम्पिटिशन में आगे बने रहने के लिए डेटा साइंटिस्ट की मदद लेती हैं। ये साइंटिस्ट रिजल्ट्स का बड़ी बारीकी से एनालिसिस करते हैं। डेटा स्टोर करने वाली कंपनीज, जैसे- गूगल, अमेजन, माइक्रोसॉफ्ट, ईबे, लिंक्डइन, फेसबुक और ट्विटर आदि को सबसे ज्यादा जरूरत होती है।

क्या करता है डेटा साइंटिस्ट

प्रोग्रामिंग स्किल्स और डेटाबेस स्किल्स के जरिए डेटा को कैप्चर करना, डेटा साइंटिस्ट स्टेट और मैथ्स टूल के जरिए डेटा का विश्लेशण करता है। इसको वह पॉवर प्वाइंट, एक्सेल, गूगल विजुलाइजेशन के जरिए प्रस्तुत करता है।

कौन सी क्वॉलीफिकेशन है जरूरी

  • मैथ्स, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, एप्लाइड साइंस, मेकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक और एमएस की डिग्री होना जरूरी है।
  • सांख्यिकी मॉडलिंग, प्रोबेबलिटी की नॉलेज होना बेहज जरूरी है।
  • इसके अलावा Python, Java, R, SAS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की समझ होना भी बेहद जरूरी है।
  • इसके अलावा कैंडिडेट्स में नए प्रोग्राम बनाने के लिए ग्लोबल बिजनेस के साथ काम करने की योग्यता होनी चाहिए।

फाइनेंशियल सेक्टर में सबसे ज्यादा जरूरत

भारत में ही डेटा साइंटिस्ट/ डेटा एनालिटिक्स की करीब 97 हजार नौकरियां खाली हैं। देश में डेटा एनालिटिक्स टैलेंट की सबसे ज्यादा जरूरत बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर को है।

यह नए जमाने के टेक्नॉलोजी जॉब्स हैं। हालही में ऑनलाइन एड-टेक कंपनी ग्रेट लर्निंग के सर्वे में बताया गया है कि देश में डेटा एनालिटिक्स और डेटा साइंस सेक्टर को स्किल्ड और ट्रेंड लोग नहीं मिल रहे हैं। इस वजह से डेटा एनालिटिक्स और डेटा साइंस से जुड़ी 97 हजार नौकरियां खाली हैं। इनमें से ज्यादातर नौकरियां शुरुआती और जूनियर लेवल की हैं। ग्रेट लर्निंग का दावा है कि यह सर्वे बड़े जॉब पोर्टल के आंकड़ों और 100 कंपनियों और इन सेक्टरों के 1000 प्रोफेशनल्स से बातचीत पर आधारित है।

यह भी पढ़े…

सर्व के अनुसार 70 फीसदी नौकरियां पांच साल से कम अनुभव वाले लोगों के लिए खाली हैं। फ्रेशर के लिए 21 फीसदी खाली नौकरियां हैं। पिछले साल ये 17 फीसदी थी। डेटा एनालिटिक्स और डेटा साइंस फील्ड में जिस पैमाने पर नौकरियां हैं उस हिसाब से जरूरी स्किल हासिल कर इस सेक्टर में अच्छी एंट्री हो सकती है।

यहां हैं सबसे ज्यादा नौकरियां

डेटा एनालिटिक्स की सबसे ज्यादा जॉब बेंगलुरू में हैं। इसके बाद दिल्ली-एनसीआर में ओपनिंग्स हैं। मुंबई और चेन्नई में भी नौकरियां खाली हैं। बेंगलुरू में आईटी सेक्टर में कई बड़े निवेश हुए हैं। इससे यहां डेटा एनालिटिक्स की नौकरियां ज्यादा हैं।

(आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डिन और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

More from करियरMore posts in करियर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *