Press "Enter" to skip to content

योजना / ऐसे करें करियर को मैनेज, 5 साल बाद आप भी बन सकते हैं ‘बॉस’

पिछले 10 साल में जॉब मार्केट में बहुत बड़े बदलाव हुए हैं। इसमें कई लोगों का करियर ग्राफ रोलर कोस्टर की तरह रहा है। जॉब सिक्योरिटी, हर साल प्रमोशन और वेतन वृद्धि अब पुरानी बातें हो चुकी हैं। अर्थव्यवस्था की कमजोरी के दौर में जॉब मार्केट में भी अनिश्चितता एक अपरिहार्य स्थिति हो चुकी है।

इसका मतलब यह है कि अब करियर पर बाहरी कारकों का अधिक असर पड़ता है, बजाय आपके सपने और महत्वाकांक्षा के… ऑटोमेशन की वजह से भी एम्प्लॉयी और संस्थान को आगे बढ़ने में मुश्किलें आ रही हैं। इस चुनौतीपूर्ण समय में करियर प्लानिंग पर बहुत महत्व दिया जा रहा है और अब यह बहुत जरूरी हो गया है।

करियर को लेकर लंबी अवधि का नजरिया रखना जरूरी है और इस रास्ते में आपको छोटी अवधि के कई लक्ष्य बनाकर उसे पूरा करते रहने की जरूरत है। करियर प्लानिंग में सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आप जॉब मार्केट से हिसाब से ना सिर्फ नयी योग्यता हासिल करें, बल्कि उसे लगातार अपग्रेड करते रहें जिससे कि आप बाजार के लिए उपयोगी बने रहें।

सीखें और बढ़ाएं कुशलता

बदलती परिस्थितियों के हिसाब से नई कुशलता सीखना करियर प्लानिंग का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। जॉब मार्केट अब पहले की तरह नहीं है। अब करियर में जीवन भर आपको कुछ ना कुछ सीखना पड़ता है। ऑनलाइन एजुकेशन की मदद से आप यह काम बहुत आसानी से कर सकते हैं।

करियर प्लान को बनाएं बेहतर

यदि आप अगले 5 साल में लीडरशिप रोल में आना चाहते हैं तो आपका उस प्रोफाइल के बारे में स्पष्ट विचार होना चाहिए। एक बार उद्देश्य चुन लेने के बाद उस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए क्या कुशलता होनी चाहिए, इसकी पहचान करें। लंबी अवधि के लक्ष्य को पाने के लिए आपको कई फंक्शन में काम करना आना चाहिए। लंबी अवधि के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए आपको छोटे-छोटे लक्ष्य को पूरा करने की जरूरत है।

जॉब प्रोफाइल का आंकलन करें

करियर गोल सेट करने के लिए जरूरी है कि आप मौजूदा जॉब प्रोफाइल का आंकलन करें। जब आप किसी फाइनेंशियल प्लानर के पास जाते हैं तो वह सबसे पहले आपके वित्तीय लक्ष्य के बारे में जानना चाहता है। इसी तर्ज पर आप अपने मौजूदा रोल और उसके भविष्य पर विचार करें। आपकी कंपनी जरूर तिमाही या छमाही समीक्षा करती होगी, आप अपने लिए चुनौतियों की जल्द-जल्द समीक्षा करें।

काम करने की संभावना तलाशें

जब आप नई कुशलता सीखते हैं तो उन्हें लागू करने के मौके तलाशें। अपने संस्थान में भावी प्रोजेक्ट में काम करने की संभावना तलाशें और उसमें अपनी कुशलता का प्रयोग करें। उदाहरण के लिए डिजिटल अवरोध से हर कंपनी जूझ रही है और इससे निपटने के लिए टीम बना रही हैं। इस तरह के प्रोजेक्ट पर काम करना बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि कंपनी आपको इसमें हर संभव मदद करती है।

More from करियरMore posts in करियर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *