Press "Enter" to skip to content

सोशल हलचल

हमारे सामाजिक विमर्श में इन दिनों भारतीयता और उसकी पहचान को लेकर बहुत बातचीत हो रही है। वर्तमान समय ‘भारतीय अस्मिता’ के जागरण का समय है। यह ‘भारतीयता के पुर्नजागरण’ का भी समय है। ‘हिंदु’ कहते ही उसे दूसरे पंथों के समकक्ष रख दिए जाने के खतरे के नाते, मैं…
Picture courtesy: India Today रायना गुप्ता कोलकाता में रहती हैं। वो पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट, कराटे चैंपियन, लॉ स्कॉलर और एक कंपनी सेक्रेटरी हैं। वो झुग्गीवासियों को आत्मरक्षा में प्रशिक्षित कर रही हैं। उनके द्वारा किया जा रहा है यह कार्य इसलिए भी चर्चा का कारण बनता है कि जब…
भारत में चुनाव प्रक्रिया जटिल और चुनौतीपूर्ण है। ऐसे में मीडिया के नजरिए से चुनाव में क्या चुनौतियां होती हैं यदि आप ये जानना चाहते हैं तो ‘मीडिया और भारतीय चुनाव प्रक्रिया’ किताब आपके लिए ही है। प्रोफेसर संजय द्विवेदी द्वारा संपादित इस किताब को दिल्ली स्थित यश पब्लिशर्स एंड…

मुद्दा / हैरान कर देगी बीजेपी से सांसद और विधायक की ये बात

पहले ‘अच्छे दिन आएंगे’ और इस बार ‘चौकीदार’ का जुमला देकर सत्ता में आने वाली भारतीय जनता पार्टी से महिलाओं के खिलाफ अपराधों में शामिल सबसे ज्यादा सांसद और विधायक मौजूद हैं। पिछले 5 साल में मान्यता प्राप्त दलों ने 26 उम्मीदवारों को रेप के मामलों में लिप्त नोताओं को…

महाराष्ट्र / तो क्या उद्धव ठाकरे 5 साल तक मुख्यमंत्री रह पाएंगे!

Photo courtesy: HT/Facebook महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की महागठबंधन वाली सरकार बन चुकी है। पिछले दिनों जो भी हुआ वो राजनीति थी। राजनीति ऐसी ही होती है, जो लोग इस पूरे घटनाक्रम को लेकर अभी भी संशय में हैं उन्हें चाणक्य नीति और राजनीति की पुस्तकों का अध्ययन…

वीडियो / यदि आप भी करते हैं धूम्रपान तो अंत में होता है ये अंजाम

एक हैरान करने वाला वीडियो जोकि एक चेन स्मोकर का है इन दिनों काफी वायरल हो रहा है। यदि आप भी चेन स्मोकर हैं तो इस वीडियो को गौर से देखिए। इसे देखकर आप बेहतर तरह से समझ पाएंगे कि धूम्रपान करने से क्या होता है। और आपको ये भी…

रिसर्च / कौन सी खबर ‘फेक न्यूज’ है इसे कुछ इस तरह पहचानें

दुनिया भर में फेक न्यूज एक चर्चित शब्द बन चुका है। सूचना के युग में ये बेहद खतरनाक है। अमूमन फेक न्यूज भ्रामक सूचनाएं, अफवाहों और निजी प्रचार-प्रसार के लिए उपयोग में लाई जाती है। हालही में पेंसिलवानिया स्टेट यूनिवर्सिटी की ओर से फेक न्यूज की पहचान और इसे रोकने…

प्रदूषण / दिल्ली में ‘ऑक्सीजन बार’, कई फ्लेवर में मिलती है शुद्ध हवा

दिल्ली अब वो दिल्ली नहीं रही जब मुगल सल्तनत का हर बादशाह उस पर राज करने की ख्वाहिश लिए लूट-पाट करता दुनिया के अन्य देशों से आता था। दिल्ली अब प्रदूषण की गिरफ्त में आ चुकी है। वजह हैं वो लोग जो यहां रहते हैं और जो यहां रहने कई…

आर्थिक मंदी / अर्थव्यवस्था की सेहत खराब, क्यों बनी ये स्थिति?

सरकारी बैंक एसबीआई ने हाल ही में ये कहकर हैरान कर दिया कि अर्थव्यवस्था की विकास दर दूसरी तिमाही में गिरकर 4.2 फीसदी रह जाएगी। मूडीज की रिपोर्ट के बाद यह सोचने वाली बात इसलिए भी है कि एक ओर जहां सरकार अर्थव्यवस्था को नहीं संभाल पा रही है। दूसरी…

आस्था / इतिहास के पन्नों में जीवंत रहेगा ‘एकात्म वर्तमान’

Pic Courtesy: Vikas Anand /Ayodhya अयोध्या यानी श्रीराम की नगरी। श्रीराम ने त्रेतायुग में उन आदर्शों से साक्षात्कार करते हुए वो प्रतिमान स्थापित किए जिससे कारण वो भगवान कहलाए। पौराणिक कहानियां बताती हैं कि श्रीराम, भगवान श्री विष्णु के अवतार थे। विष्णु को सृष्टि के पालनहार कहा गया है। श्री…

रिपोर्ट / ‘शिक्षा में दुनिया है आगे’ और एमपी के शिक्षा मंत्री अभी विचार कर रहे हैं?

प्रतीकात्मक चित्र। मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी भोपाल में आयोजित स्टीम कॉन्क्लेव-2019 में कहते हैं कि राज्य सरकार प्रदेश में स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। शिक्षा की गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए ठोस कदम उठाने की बात कर रहे हैं। उठाए अभी तक नहीं…

रिपोर्ट / …ताकि कम हो ‘स्कूल बैग का वजन’ तो ऐसी होनी चाहिए शिक्षा प्रणाली!

प्रतीकात्मक चित्र। केंद्र सरकार जल्द ही नई शिक्षा नीति लाने जा रही है। हालही में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि सरकार जल्द ही 33 साल बाद नई शिक्षा नीति लेकर आ रही है। नई नीति ‘ज्ञान, विज्ञान, नवाचार और संस्कार’ पर जोर देती है।…

समस्या / भारत में ‘चीन की तुलना से’ प्रदूषण ज्यादा खराब क्यों है?

क्षेत्रफल और जनसंख्या इन दोनों में ही चीन दुनिया का सबसे बड़ा देश है। भारत इसके बाद, लेकिन पर्यावण की बात जब आती है तो चीन से ज्यादा हालात भारत में खराब हैं खासतौर पर देश की राजधानी दिल्ली में ही हालात बेहद गंभीर हैं। यह काफी गंभीर है, उनके…

समाज / कहीं धर्म परिवर्तन तो कहीं अपने मूल धर्म में वापिस आते वो लोग

प्रतीकात्मक चित्र। धर्म परिवर्तन एक ऐसा मुद्दा है जो सदियों से हैं, और सदियों तक रहेगा! लेकिन ये क्यों है? इस सवाल के कई उत्तर हो सकते हैं। कई विवादास्पद तो कई तर्क पर आधारित। तो कई ऐसे सवाल जो एक सभ्य समाज जहां धर्म लोगों को जोड़े रखने का…

मुद्दा / बीजेपी उवाच, ‘हमने कब रोका’, तो कश्मीर के क्या हैं वास्तविक हालात!

कश्मीर में यूरोप के 27 सांसदों के जाने पर मोदी सरकार से विपक्ष के सवाल पर विवाद बरकरार है। बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने मंगलवार को कहा, ‘कश्मीर जाना है तो कांग्रेस वाले सुबह की फ्लाइट पकड़कर चले जाएं। गुलमर्ग जाएं, अनंतनाग जाएं, सैर करें, घूमें-टहलें। किसने उन्हें रोका है?…