Press "Enter" to skip to content

पहल / अमृत देसाई ने बेटी की शादी में किया ये काम, अब हो रही तारीफ

‘पैसा हर किसी के पास होता है, लेकिन दिल बहुत कम लोगों के पास’ यह एक पुरानी कहावत है, जिसे गुजरात के अमृत देसाई ने साकार किया है।

उन्होंने अपनी बेटी की शादी में सात दलित लड़कियों की शादी करवाई यहीं नहीं उन्होंने सभी आठ जोड़ों को घरेलू सामान और नए जीवन की शुरूआत करने के लिए उपहार भी दिए। तो वहीं हिंदू पुजारी ने वैदिक मंत्रों से विवाह को संपन्न कराया।

यह शादी गुजरात के पालनपुर शहर से 7 किमी दूर अजीमान गांव में हुई। इस विवाह समारोह में करीब 3,000 लोगों ने शिरकत की।

TOI की खबर के मुताबिक अमृत देसाई कहते हैं, ‘बेटी की शादी में सात दलित लड़कियों की शादी करके हमने जाति विभाजन की सदियों पुरानी परंपरा तोड़ने की सकारात्मक पहल की है। हमारे समाज में दलित समुदाय के प्रति जो सामाजिक बुराई और उदासीनता है, हमें उससे छुटकारा पाने के लिए बड़े कदम उठाने होंगे।’

देसाई कहते हैं, ‘मेरी बेटी की शादी में यह निर्णय लेना आसान नहीं था। मैनें वर पक्ष के लोगों से बात की और फिर गांव वालों से बातचीत की, सभी ने मेरी सोच को सराहा और मुझे यह पुण्य कार्य करने के लिए अनुमति दी।’

More from जीने की राहMore posts in जीने की राह »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *