Press "Enter" to skip to content

स्वास्थ्य / प्री वर्कआउट या पोस्ट वर्कआउट करना कितना है जरूरी

एक बेहतर वर्कआउट आपको दिन भर तरोताजा रखने में मदद करता है। इस बात का बेहद ध्यान रखें कि प्री वर्कआउट या पोस्ट वर्कआउट करते हैं तो इन दोनों के बीच भोजन सर्व करने में थोड़ा अंतर रखना चाहिए। भोजन का अंतर इतना भी न हो कि आप कुछ भी न खाएं, इस दौरान कुछ न कुछ खाते रहें।

यूके स्थित एक विश्वविद्यालय में 20 से 26 साल के बीच के 12 पुरुषों के शारीरिक ऊर्जा स्तर का अवलोकन किया गया। जहां तीन अलग-अलग दिनों में किए गए परीक्षण में प्रतिभागियों की ऊर्जा का स्तर देखा गया। इस अध्ययन में यह देखा गया कि जिन प्रतिभागियों ने कसरत से पहले नाश्ते को छोड़ दिया, वे सामान्य सेवन की तुलना में दिन में कम कैलोरी लेते हैं।

ऐसे मामले में, शरीर अन्य वसा संग्रहीत स्रोतों से ऊर्जा लेता है, जो आपका वजन कम करने में आपकी मदद करता है। यह भी एक कारण है कि बहुत से लोग खाली पेट पर कसरत करना पसंद करते हैं या बल्कि बाहर जाने से पहले कैलोरी में कुछ कम पर नाश्ता करते हैं। उपवास के बाद वर्कआउट करने से इंसुलिन का स्तर भी कम होता है, जो दूसरी ओर, हार्मोन को बढ़ावा देता है जो वसा को जलाता है।

जब आप खाते हैं और कसरत करते हैं। जब आप हार्दिक भोजन और कसरत करते हैं, तो शरीर वसा जलता है लेकिन पहले की तुलना में धीमी दर पर। इसके अलावा, इंसुलिन का स्तर, जो ऊपर जाने में अधिक समय लेता है आमतौर पर 2 या 3 घंटे तक। अनुसंधान से पता चलता है कि कुछ पोषक तत्व, विशेष रूप से प्रोटीन आपके शरीर को व्यायाम के बाद ठीक होने और अनुकूलित करने में मदद कर सकते हैं।

प्रोटीन विशेष रूप से मांसपेशियों का पुनर्निर्माण कर सकते हैं और आपके शरीर में खोई तेजी से ऊर्जा के स्तर को बहाल कर सकते हैं। इसके अलावा, हमेशा खोए हुए H-20 के स्तर और आवश्यक विटामिन के लिए अपनी कसरत के बाद पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

ध्यान रखें कि भोजन के पहले वर्कआउट को छोड़ देने से अधिक लाभ होता है। यदि आप बहुत ज्यादा कसरत करने का विचार कर रहे हैं तो आपको भोजन में प्रोटीन जरूर लेना चाहिए।

More from जीने की राहMore posts in जीने की राह »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *