Press "Enter" to skip to content

प्रेरणा / बेहतर व्यक्ति की जिंदगी में होती हैं ये 5 चुनौतियां

जीवन एक अनिश्चित रोलर कोस्टर की तरह है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसे किस नजरिए से देखते हैं। खुशी के साथ अपने अनुभवों से सीख ले लेते हैं या दुःखी होकर स्थिर हो जाते हैं। यहां सीखने और करने के लिए काफी कुछ है, ऐसे में आप असफल होते हैं तो तो अनुभव मिलता है और सफल तो खुशियां मिलती हैं। लेकिन असफल होने पर आपको एक अनुभव मिलता है अब आगे क्या नहीं करना है और क्या करना है।

इस दुनिया में एक बात निश्चित है और वो यह कि बेहतर का अर्थ है सुधार। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप आज खुद को कहां पाते हैं, सुधार के लिए हमेशा जगह है। यहां तक ​​कि एक भिखारी भी खुद को बेहतर बनाने के लिए हर दिन प्रयास करता है, लेकिन उसकी सोच और गति अलग होती है। शुक्रिया कीजिए! उसका जिसने आपको यहां भेजा है किसी खास महत्व के काम के लिए उसने आपके लिए इतनी खराब परिस्थिति नहीं दी होगीं। इसलिए हमेशा एक बेहतर व्यक्ति बनने के लिए प्रयास करते रहें।

हर व्यक्ति के व्यक्तिगत विकास और आत्म-सुधार के लिए ‘स्वयं का सुधार’ एक अवसर है। अंत में, लक्ष्य यही होना चाहिए कि आप जो सीखते हैं उसका उपयोग करें क्योंकि आप अपने आप को इस दुनिया के एक सर्वश्रेष्ठ संस्करण बनाने की जद्दोजहद शामिल हैं और जब आप ऐसा करते है तो ये 5 चुनौतियां आपके जीवन में जरूर आती हैं।

हानि

नुकसान जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। चाहे आप अपनी नौकरी, एक अवसर, या एक रिश्ता खो दें। इसके बावजूद एक और बड़ा नुकसान जीवन की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक बन जाता है। यह अचानक से होता है और आपको टूटा हुआ महसूस कराता है। हालांकि, यह नुकसान आपको यह देखने का मौका देता है कि वास्तव में क्या महत्वपूर्ण है ताकि आप आगे बढ़ते रहें।

असफलता

यदि आपने असफलता का अनुभव नहीं किया है तो सफलता का स्वाद मीठा न लगे। विफलता एक यात्रा की तरह होती है जहां आप सीखते हैं। बहुत कुछ जो आपको स्कूल, कॉलेज या किसी ओर जगह पर नहीं सिखाई जाती है। यह प्रकृति आपको सिखाती है, ताकि आप सुधार कर सकें। सफल होने के लिए असफल होना बेहद जरूरी है। असफलता में अपने निर्णयों और कार्य करने की क्षमता और विचारों की समीक्षा करते रहें। यदि आप वाकई में आगे बढ़ना चाहते हैं। दुनिया के तमाम दिग्गज एथलीट ऐसा ही करते थे और आज भी करते हैं। उनकी आत्मकथाएं पढ़ कर सीख सकते हैं।

अप्रत्याशित परिस्थितियां

एक बेहतर इंसान बनने की हमारी यात्रा में अप्रत्याशित परिस्थितियां आती रहती हैं। ऐसे में आप अपने विवेक और बौद्धिक ज्ञान की मदद से हर समस्या के पहलू या सही चीजों को जान सकते हैं कि क्या करना है या क्या कहना है, लेकिन जब ऐसे क्षण आते हैं तब मानवता आपको कुछ अलग करने को कहती है तो कीजिए। आपके सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद, आप अचानक कुछ ऐसा करते हैं या कहते हैं कि आपको उसका पछतावा नहीं होता तो ये अप्रत्याशित परिस्थितियां ही होती हैं।

ऐसे समय में आपका सकारात्मक होना बेहद जरूरी है। असफलताएं सीखने का अवसर हैं। वो आपकी प्रगति को धीमा करने वाली चीजों के प्रकार के बारे में आपको दृढ़ समझ रखने के लिए प्रेरित करती है। ताकि आप ऐसी परिस्थितियों से बच सकें।

नैतिक और विवेकशील रहें

गलत क्या है सही क्या है आप ये जानते हैं। वर्तमान जीवन की चुनौती यह है कि आप सही चीजों में रहते हुए अपना सर्वश्रेष्ठ कैसे दे सकते है। आप आज एक विचारधारा से सहमत हो सकते हैं, और हो सकता है कल किसी दूसरी विचारधारा से, अपने मन को बदलना आपका अधिकार है, और आप जहां खड़े हैं, यह तय करना आपकी जिम्मेदारी है। यह तय करना कि आप एक बेहतर व्यक्ति बनने के लिए अपनी बनाई सड़क पर जाते समय सबसे ज्यादा क्या महत्वपूर्ण मानते हैं। इसी को आत्म-सुधार कहते हैं और यह नैतिक और विवेकशील होने से ही आता है। आपके आस-पास ऐसे कई लोग और मुद्दे हैं जो सही और गलत के अपने निजी अर्थों में लंगर डाले हुए है। तय आपको करना है कि आप किसके साथ हैं।

अपने दिमाग को तराशिए

आपका दिमाग प्रतिद्वंद्वी हो सकता है। जब चीजें अच्छी तरह से नहीं चल रही हों, यह सभी प्रकार की नकारात्मक टिप्पणी वाला हो सकता है और शक के साथ भय आपको पटरी से उतारने का साहस भी कर सकता है। यदि आप इसे ऐसा करने देते हैं। इसलिए अपने दिमाग को माहिर करना सभी की सबसे बड़ी जीवन चुनौतियों में से एक है। दिमाग को तारशिए कैसे तराशना है आप जानते हैं नहीं जानते हैं तो खोजिए दुनिया में जितने भी महान लोग हुए हैं उन्होंने पहले अपने दिमाग को तराशना सीखा और फिर उन्होंने वो काम किए जो असंभव से दिखते थे। यदि आप ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो उन सभी चुनौतियों से सामना कर सकते हैं जो आपके जीवन में आने वाली हैं। या वर्तमान में आपके साथ मौजूद हैं।

इन बातों का भी रखें ध्यान

जीवन में ये चुनौतियां आम हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं, या आप कहां हैं, यदि आपका लक्ष्य एक बेहतर व्यक्ति बनना है, तो आप इन 5 चुनौतियों का सामना किसी न किसी रूप में करेंगे।

सौभाग्य से, आप अब इस रणनीति के साथ चुनौतियां दूर करने के लिए तैयार हैं। जैसा कि आप एक बेहतर व्यक्ति बनने की अपनी यात्रा में हैं, याद रखें कि उन चीजों को जाने दें जिन्हें आप पल में मौजूद होने के बदले नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, स्वस्थ आत्म-प्रतिबिंब के लिए जगह बनाएं, अपने मूल्यों और विश्वासों की पुन: जांच करें। विफलताओं का अनुनाद ना करें, हानि से जो आप सीखते हैं उसके बारे में लोगों को बताएं।

अब, जब आपको पता है कि आपको क्या करना है, तो वहां (आपकी चुनौतियां) से बाहर निकलें और उन उंचाईयों पर पहंचे जहां आपका इंतजार वो लोग कर रहे हैं जिन्हें आपको वहां देखने की उम्मीद है।

Support quality journalism – Like our official Facebook page The Feature Times

More from जीने की राहMore posts in जीने की राह »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *