Press "Enter" to skip to content

नजरिया / सेल्फ इम्प्रूवमेंट के लिए इससे बेहतर विकल्प नहीं

खुद को बेहतर बनाने की चाहत अमूमन हम सभी में होती है। कई लोग, कई तरह से खुद को बेहतर बनाने की कोशिश करते हैं, लेकिन यदि आप सेल्फ इम्प्रूवमेंट के जरिए खुद को इम्प्रूव करना चाहते हैं तो रोज डायरी लिखिए।

डायरी लिखना काफी पुराना आइडिया है, जिसके बारे में हमारे पूर्वज बेहतर तरह से जानते थे। यह सेल्फ इम्प्रूवमेंट के लिए बेहतर विकल्प है। स्कूलों में आज भी बच्चों को दैनांदिनी इसलिए दी जाती है ताकि वह सेल्फ इम्प्रूवमेंट के जरिए अपना विकास कर सकें।

कैसे करें डायरी लेखन

डायरी लेखन, व्यक्तिगत अनुभवों, सोच और भावनाओं  का लिखित संग्रह होता है। विश्व के ऐसे कई महान व्यक्ति थे, जो डायरी लेखन करते थे और उनके अनुभवों का लाभ निधन के बाद भी मिल रहा है।

दरअसल, दैनिक डायरी लिखने से विचारों में स्पष्टता आती है। जो आपके सोचने, समझने और जिंदगी की समस्याओं को सुलझाने में मदद करती है। कहते हैं बेंजामिन फ्रैंकलिन ने आत्मसुधार का यही साधन आजमाया था।

फ्रैंकलिन संयुक्त राज्य अमेरिका के संस्थापक जनकों में से एक थे। वह हर दिन डायरी लिखते थे और बाद में खुद  का मूल्यांकन करते थे। तो वहीं ब्रिटिश दार्शनिक लेखक जेम्स एलेन की डायरी अध्यात्म और जिज्ञासुओं के लिए किसी खजाने से कम नहीं है।

पीएम ने ‘मन की बात’ में किया था जिक्र

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ में डायरी लेखन का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि आपके मन में जो कुछ भी आए, उसे डायरी में लिखें। जैसे आज उसने क्या-क्या किया? क्या खोया, क्या पाया? आपने अगर कुछ नया किया है, तो उसे डायरी में लिखें। यदि डायरी लेखन की गंभीरता को समझते हैं तो पीएम का यह आग्रह सेल्फ इम्प्रूवमेंट की दिशा में किया जाने वाला बेहतर प्रयास साबित होगा,

डायरी लेखन से क्या होंगे लाभ

जिस तरह की लाइफस्टाइल हमारी है उस तरह रोज डायरी लिखना चुनौतिपूर्ण है, लेकिन यह चुनौती आपको लेनी ही होगी। जब आप इस चुनौती को एसेप्ट करते हैं तो दैनिक डायरी आपके जीवन का रिकॉर्ड रखती है। आपकी यादाश्त बेहतर होती है। अकेलापन और डिप्रेशन यह दो गंभीर समस्याएं दूर होगी। नए आईडिया और नई सोच विकसित होगी।

फीचर फंडा: इस भागमभाग जिंदगी में हर व्यक्ति खुद को कहीं खोता जा रहा है। ऐसे मे डायरी लेखन एक बेहतर विकल्प है, खुद से बात करना का, खुद का मूल्यांकन करने और सेल्फ इम्प्रूवमेंट के लिए इससे बेहतर विकल्प फिलहाल तो कोई हो ही नहीं सकता। बशर्त डायरी लिखते समय खुद के प्रति ईमानदार रहें।

 

More from उड़ानMore posts in उड़ान »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *