Press "Enter" to skip to content

कुपोषण / सूडान में आर्थिक संकट इतना कि चिड़ियाघर में शेर भी बीमार

सूडान, उत्तरी पूर्व अफ्रीका में स्थित एक देश है। यह अफ्रीका और अरब जगत का सबसे बड़ा देश है, क्षेत्रफल के लिहाज से दुनिया का दसवां सबसे बड़ा देश है। लेकिन इन दिनों ये पूरे विश्व में चर्चा का विषय बना हुआ है, वजह है यहां का आर्थिक संकट।

सूडान की राजधानी खार्तूम के एक पार्क में कुपोषित और बीमार अफ्रीकी शेरों को बचाने में मदद के लिए रविवार कुछ जीवों को एक बेहतर निवास स्थान में भेजा गया है। पांच शेरों को राजधानी के एक अपस्केल जिले में राजधानी के अल-कुरैशी पार्क में पिंजरों में रखा जाता है, वो कई हफ्तों से भोजन और दवा की कमी से जूझ रहे हैं।

फेसबुक पर उस्मान सलीह नाम के व्यक्ति ने #Sudananimalrescue (सूडान एनिमल रेस्क्यू) हैशटेग के जरिए ऑनलाइन अभियान शुरू किया, वो कहते हैं, ‘जब मैंने पार्क में इन शेरों को देखा तो मैं काफी परेशान हो गया। मैं इच्छुक लोगों और संस्थानों से उनकी मदद करने का आग्रह करता हूं।’

"I'm going to tell God everything" 😢… Rest in peace Queen.

Posted by Osman Salih on Monday, January 20, 2020

दुनियाभर के समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों के मुताबिक पार्क के अधिकारियों और मध्यस्थों ने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में शेरों की स्थिति खराब हो गई है, कुछ के शरीर के वजन में लगभग दो-तिहाई की कमी हुई है।

भोजन हमेशा उपलब्ध नहीं होता है, इसलिए अक्सर हम उन्हें खिलाने के लिए अपने स्वयं के पैसे से खरीदते हैं, ‘अल-कुरैशी पार्क के एक प्रबंधक एस्सेमैलडाइन हज्जर ने बताया। पार्क का प्रबंधन खार्तूम नगरपालिका द्वारा किया जाता है, लेकिन निजी दानदाताओं द्वारा भाग में वित्त सुविधा उपलब्ध की जा रही है।’

सूडान खाद्य कीमतों और विदेशी मुद्रा की कमी के कारण बिगड़ते आर्थिक संकट के बीच में है। सोशल मीडिया नेटवर्क पर उनकी तस्वीरें वायरल होने के बाद शेरों को देखने के लिए नागरिकों, स्वयंसेवकों और पत्रकारों की भीड़ पार्क में आ रह है।

अफ्रीकी न्यूज चैनल के एक संवाददाता जो वहां पिछले दिनों पहुंचे वो अपनी रिपोर्ट्स में लिखते हैं कि पांच बिल्लियों में से एक को रस्सी से बांधा गया था और एक बिल्ली को ड्रिप के जरिए तरल खाना खिलाया जा रहा है। पार्क के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पार्क की समग्र स्थिति भी जानवरों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर रही थी।

पार्क में मौजूद मोताज़ महमूद ने कहते हैं कि वे गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। वे बीमार हैं और कुपोषित दिखाई देते हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि सूडान में कितने शेर हैं, लेकिन कई इथियोपिया के साथ सीमा पर स्थित डिंडर पार्क में हैं।

अफ्रीकी शेरों को अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संगठन (IUCN) द्वारा ‘असुरक्षित’ प्रजातियों के रूप में वर्गीकृत किया गया है। 1993 और 2014 के बीच उनकी आबादी 43 प्रतिशत घट गई, जो आज लगभग 20,000 जीवित है।

Support quality journalism – The Feature Times is now available on Telegram and WhatsApp. For handpicked Article every day, subscribe to us on Telegram and WhatsApp).

More from सोशल हलचलMore posts in सोशल हलचल »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *