life

यदि अगले 15 से 30 वर्षों में पारंपरिक योग लोगों को बहुत बड़े पैमाने पर उपलब्ध नहीं होता है, तो मानव जाति की योग्यता बहुत तेजी से कम होती जाएगी। मनुष्य होने के कारण हम बहुत सारी अलग-अलग गतिविधियां कर सकते हैं। हमारी गतिविधि चाहे जिस भी तरह की हो,…
खुश रहना हर कोई चाहता है, लेकिन क्या आपके पास कुछ ऐसे नियम हैं जिन्हें आप एक चेकलिस्ट की तरह इस्तेमाल कर खुद में बदलाव ला सकते हैं? सद्‌गुरु जग्गी वासुदेव बताते हैं कि जब आप अपने स्वभाव से खुश होते हैं, तो आप जो भी करेंगे, वह बिल्कुल अलग…
हम जीवन में जो भी करते हैं, खुशी पाने के लिए करते हैं, लेकिन दुर्भाग्य से खुश रहना काफी मुश्किल काम लगता है। हमें लगता है कि खुश रहने के लिए कुछ खास तरह के हालात होने चाहिए, तभी हम खुश रह सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। सद्‌गुरु जग्गी…