Press "Enter" to skip to content

प्रेरणा / ‘जैक मा’ की ये 6 प्रभावशाली बातें साबित करती हैं कि वह 21वीं शताब्दी का ‘योडा’ हैं

विजेता अपनी नियति नहीं बदलते, वह बदलते हैं तो दुनिया की सोच और उनके अंदर मौजूद उस खूबी को, जो उन्हें  सफल बनाने में दोगुनी हिम्मत देती है। ऐसे ही एक विजेता हैं ‘जेक मा’, यदि उन्हें वह 21वीं शताब्दी का ‘योडा’ कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी, लेकिन उनके जीवन से जो सीख आज हम ले सकते हैं, वो ज्यादा मायने रखती है।

लगभग दो दशक पहले यानी 1999, वो साल था जब 21वीं सदी के सबसे अमीर लोगों की फेहरिस्त में एक नाम ‘जैक मा’ तेजी से आगे आ रहा था। उन्होंने अपनी सफलता के रास्ते में आने वाली चुनौतियों और असफलताओं को चिन्हित किया और उन्हें हथियार बनाकर हर तरह की नकारात्मकता को हराकर सफलता हासिल की। आशा और विश्वास को उजागर करती जैक की सफल यात्रा में उनका साथ दिया मेहनत और सटीक सोच ने, जो उन्हें हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती थी।

‘योडा 1980 की आई हॉलीवुड फिल्म ‘द एम्पायर स्ट्राइक्स बैंक’ में पहली बार दिखाई दिए, जोकि ‘जॉर्ज लुकास’ द्वारा निर्मित ‘स्टार वार्स फ़्रैंचाइज़ी’ के एक काल्पनिक चरित्र हैं। मूल फिल्मों में, वह गैलेक्टिक साम्राज्य के खिलाफ लड़ने के लिए ल्यूक स्काईवाल्कर को प्रशिक्षित करते हैं।’

जैक, चीन के हंग्जो में एक गरीब परिवार में जन्में थे। जैक अरबपति बनने से पहले अंग्रेजी भाषा के शिक्षक थे। वह स्कूल में अपने संघर्ष के दिनों को एक चुनौती के तौर पर गुजार रहे थे, वह शिक्षक बनने से पहले तीस नौकरियों में रिजेक्शन का सामना कर चुके थे। 33 साल की उम्र में उन्होंने अपना पहला कम्प्यूटर खरीदा और जल्द ही अपने छोटे से घर में ‘अलीबाबा’ की नींव रखी।

जैक मा कहते हैं…

आज मुश्किल है, कल कठिन है, लेकिन कल के बाद का दिन सुंदर है।

जब लोग कहते हैं कि दृढ़ता महत्वपूर्ण है, तो यह कुछ भी नहीं है। हमारे पास लक्ष्य देखने के लिए हमारी आंखें होनी चाहिए और बाधाओं और असफलताओं के बावजूद हम बस इस राह पर चलते रहें। ये हौसला ही आपके आने वाले दिन को सुंदर बनाता है। जैक मा का यह प्रेरक वाक्य पूरी तरह से योडा की याद दिलाता है। जब योडा ने कहा था कि, ‘यदि आपके पास धैर्य है तो वो आपको मानसिक तौर पर मजबूत बनाता है।’

यदि आप हार नहीं मानते हैं, तो आपके पास अभी भी एक मौका है, क्यों कि हार मान लेना सबसे बड़ी विफलता है।

जब योडा ल्यूक को बताता है, ‘यदि आप अब अपना प्रशिक्षण समाप्त करते हैं, यदि आप आसान रास्ता चुनते हैं, तो आप बुराई के एजेंट बन जाएंगे। खैर, जैक एक ही बात कहते हैं कि, ‘छोड़ने की कोई चीज है तो वो है हार मान लेने की विफलता क्योंकि हार मान लेना ही सबसे बड़ी विफलता है।’

इंटेलिजेंट लोगों को नेतृत्व करने के लिए मूर्ख की जरूरत होती है।

जैक का मानना है कि यदि एक वैज्ञानिकों की टीम का समूह कहीं जा रहा है या किसानों का समूह तो किसानों को रास्ता बताना ज्यादा आसान है क्योंकि उनके सोचने का तरीका अलग होता है। अगर आप लोगों की विशेषताएं देखते हैं, तो आपको सटीक दृष्टिकोण पता चलता है और आप आसानी से सफल हो सकते हैं।

तो वहीं, हम योडा की बात करें तो योडा और ओबी-वान केनोबी हमकद लोग हैं, लेकिन जब उनकी आत्मा ल्यूक से मुकाबला करती है और कहती है कि, ‘हम जिन सच्चाईयों पर निर्भर हैं, वे हमारे दृष्टिकोण पर निर्भर हैं।’ दरअसल योडा कहना चाहते हैं कि दृष्टिकोण महत्वपू्र्ण है और सर्वोत्तम परिणाम के लिए इसके जरिए ही विचार किया जाना चाहिए।

यदि युवाओं को भविष्य का भय है, तो वर्तमान में ईमानदारी से कार्य करें और अतीत के लिए आभारी रहें, उनके पास अवसर होंगे।

जब योडा ल्यूक को बताता है कि उसे अपने कौशल को बेहतर करना है तो उसे नियंत्रण का अभ्यास करना चाहिए, तब ल्यूक कहता है, ‘सेना के माध्यम से, आप जो चीजें देखेंगे। भविष्य और अतीत से जो पुराने दोस्त लंबे समय से आपकी जिंदगी से चले गए हैं, उन्हें संपर्क में रखना ही हमारी विशेषता है।’ जैक मा भी युवाओं को अपने अतीत, वर्तमान और भविष्य की वास्तविकता के साथ समन्वयित करना चाहते हैं, ताकि स्वयं और दूसरों की मदद करने के सर्वोत्तम अवसर मिल सके।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि निवेशक क्या सोचते हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके माता-पिता क्या सोचते हैं, इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि आपके मित्र क्या सोचते हैं, आप जिसे मानते हैं, वो है आपकी ‘टीम’, जिस पर आपको विश्वास करना है और दिन और रात पर काम करना है।

‘स्टार वार्स फ़्रैंचाइज़ी’ में ल्यूकेटो ने अपने एक्स-विंग को बग से बाहर करने के कई असफल प्रयास किए और बाद में आत्मसमर्पण कर दिया क्योंकि उन्हें लगता है कि ऐसा नहीं किया जा सकता है। हालांकि, योडा आसानी से ऐसा करता है और ल्यूक आश्चर्यचकित हो जाता है। वह कहता है, ‘मैं नहीं करता… मुझे विश्वास नहीं है!’, जिस पर योडा यह कहते हुए जवाब देता है, ‘यही कारण है कि आप असफल हो जाते हैं।’ क्या जैक यह नहीं कह रहे हैं? एक दृष्टि रखने के लिए और इसमें विश्वास करने के लिए विश्वास करें, भले ही दुनिया क्या सोचती है। ‘जी हां’ यही बात जैक मा कहते हैं।

आपको अपने साथ सही लोगों की जरूरत है, न कि सबसे अच्छे लोगों की।

जब योडा ने कहा, ‘आपको पहले से ही पता है कि आपको जो चाहिए’ इसका मतलब था कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम कैसे प्रयास करते हैं, हम हमेशा जानते हैं कि यह लक्ष्य नहीं है, लेकिन हम फिर भी अच्छे लोगों की वजह यदि सही लोगों के साथ काम करते हैं तो सफलता हमे जल्द मिलती है।

(आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डिन और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

More from जीने की राहMore posts in जीने की राह »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *