Press "Enter" to skip to content

दलाई लामा

दलाई लामा ऑनलाइन प्रवचन देते हुए/ चित्र सौजन्य : तेनज़िन जैम्फेल। दलाई लामा, लेखक आध्यात्मिक गुरू हैं। तिब्बत में बौद्ध धर्म की स्थापना नालंदा परंपरा के आचार्य शांतरक्षित ने की थी। हम भारत से प्राप्त त्रिपिटकों का अध्ययन करते हैं और तीन प्रशिक्षणों की साधना में संलग्न होते हैं। यही…
तिब्बत के दूसरे सर्वोच्च आध्यात्मिक नेता,गेदुन चोएक्यी न्यिमा। चित्र सौजन्य : दार्जलिंग अनलिमिटेड प्रो. श्यामनाथ मिश्र। लेखक राजनीति विज्ञान विभाग, राजकीय महाविद्यालय, तिजारा (राजस्थान) में कार्यरत हैं। यह घटना है, 14 मई, 1995 की, तब चीन ने सिर्फ छः वर्षीय पंचेन लामा गेदुन चोएक्यी न्यिमा का उनके परिजनों सहित अपहरण…
प्रतीकात्मक चित्र। संकलन : अमित कुमार सेन। हम एक ऐसी दुनिया, या कहें एक ऐसे क्षण में रह रहे हैं जहां ज्ञान, करुणा, आशावाद, लचीलापन, साहस और स्पष्ट नज़रिए की बेहद जरूरत है। हमें इन गुणों को अपने अंदर जागृत करने की जरूरत है। यह हम तभी कर सकते हैं,…

बुद्ध पर्वत / ‘पोताला महल’ के बारे में, क्या ये तथ्य जानते हैं?

चित्र : पोताला महल/अखिल पाराशर। अखिल पाराशर, ल्हासा/तिब्बत। चीन के तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के ल्हासा शहर में स्थित पोताला महल की खूबसूरती की जितनी भी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। इसे तिब्‍बत के सबसे महत्‍वपूर्ण दर्शनीय स्‍थलों में गिना जाता है। यह आस्था का प्रमुख केंद्र है, साथ ही…

विचार / यदि एक बेहतर दुनिया चाहिए तो हमें क्या करना होगा?

दलाई लामा, लेखक आध्यात्मिक गुरू हैं। स्थायी भविष्य की कुंजी एक परोपकारी मानसिकता में है जो प्रतिस्पर्धा की जगह सहयोग करती है और लोगों की भलाई के लिए काम करती हो। हम यहां जानेंगे कि, ‘कैसे 21वीं सदी में परोपकारी प्रेम का भाव रखने से हम अपने बीच के विभाजनों…

विमर्श / पुलिस कार्रवाई में ‘सहानुभूति और करुणा’ क्यों है जरूरी

चित्र: कोरोना काल में भारतीय पुलिस एक वृद्ध महिला की मदद करते हुए। दलाई लामा, लेखक आध्यात्मिक गुरू हैं। चीन दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है, इसकी प्राचीन संस्कृति है और पारंपरिक रूप से वह बौद्ध मताबलंबी बहुल देश है। लेकिन वहां कोई आजादी नाम की चीज नहीं…

गलवान घाटी / संभव है, ‘बातचीत’ या इस तरह सुलझ सकता है पूरा मामला

डॉ. वेदप्रताप वैदिक। भारत और चीन के सैनिकों की बीच हुई मुठभेड़ और उसके कारण हताहतों की खबर ने देश के कान खड़े कर दिए। भारतीय टीवी चैनलों को चीनी सैनिकों के मरने की खबर चीनी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ से मिली। अखबार के संपादक ने ट्वीट करके यह खबर भी…

रिपोर्ट / नोबेल शांति पुरस्कार विजेता दलाई लामा से क्यों डरता है चीन!

चित्र: आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा। चीन के तिब्बती पहाड़ी इलाके के उत्तरी छोर पर है आमदो का एक छोटा गांव ‘तकछेर’, ये वो जगह है जहां 1935 में एक किसान परिवार में दलाई लामा का जन्म हुआ था। यह जगह ना सिर्फ दलाई लामा को मानने वालों को अपनी तरफ…