Press "Enter" to skip to content

Life management

जीवन एक अनिश्चित रोलर कोस्टर की तरह है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसे किस नजरिए से देखते हैं। खुशी के साथ अपने अनुभवों से सीख ले लेते हैं या दुःखी होकर स्थिर हो जाते हैं। यहां सीखने और करने के लिए काफी कुछ है, ऐसे में…
राम और रावण त्रेतायुग में जन्में दो चरित्र हैं, जिनके बारे में हमें महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण से जानकारी मिलती है। रामायण के बाद कई ओर रामायण अलग-अलग नाम से लिखी गईं, और संभव है भविष्य में भी लोग लिखते रहेंगे। राम को हमने भगवान के रूप में स्थापित…
एक छोटा बच्चा जब अपनी मां की गोद में होता है और एक भीनी सी मुस्कान बिखेरता है और फिर उसकी मां उसे जादू की झप्पी देती है। अमूमन ऐसा ही होता है। हमें उस छोटे बच्चे से सीखना चाहिए कि मुस्कुराने से दुनिया की आधी समस्याओं को दूर किया…

समाधान / कई लोगों का पसंदीदा प्रश्न ‘कब होगी किस्मत मेहरबान’

किस्मत और मेहनत दोनों एक दूसरे के साथ चलती हैं। जब कोई 99 प्रतिशत मेहनत करता हैं तो 1 प्रतिशत किस्मत ही होती है, जो सफलता दिलाती है। चाय की दुकान हो या सरपंच का मकान हर जगह किस्मत की बात होती है, लेकिन यह कोई नहीं पूछता कि खुदा…

विश्वास / तुम्हारा हौसला कितना बड़ा है अपनी तकलीफ को बताओ

कॉलेज की सुहानी जिंदगी से निकलकर जब स्टूडेंट्स जॉब मार्केट में अपना रेज्यूमे लेकर किसी भी कंपनी के दरवाजे पर दस्तक देता है तो इंटरव्यू में उससे अमूमन एक सवाल पूछा जाता है आप अपने को 5 साल बाद कहां देखते हैं। इसका उत्तर अलग-अलग लोग बेहद अलग तरीके से…

जज्बा / औसत नहीं बेहतर बनिए, फिर देखिए चमत्कार

जिंदगी एक बार मिलती है इसलिए दो बार क्यों सोचना यह बात उन लोगों पर सटीक बैठती है, जो छोटी सी उम्र में लंबा सफर तय करते हुए औसत नहीं बेहतर बनने की कवायद में जुटे रहते हैं। औसत से बेहतर बनना है तो चुनौतियों को स्वीकार करना होगा। यदि…

आत्म विश्वास / खुद पर कीजिए यकीन दुनिया आप पर करेगी विश्वास

यकीन शब्द बहुत ही प्रभावशाली है। यह मन का ऐसा भाव है, जो आप खुद पर करें तो दुनिया का कठिन से कठिन काम आसानी से कर सकते हैं, लेकिन यह बेहद जरूरी है कि खुद पर यकीन करने के बाद कर्म भी करने होंगे। अगर यूं ही  हाथ पर…

प्रबंधन / भगवान राम से सीखें कैसे की जाती है लाइफ मैनेज

जिंदगी में कामयाब इंसान बनना है तो लक्ष्य हासिल करने के लिए बेहतर मैनेजमेंट का होना बेहद जरूरी है। इसके लिए मूल्य, रणनीति, विश्वास, प्रोत्साहन, श्रेय, उपलब्धता और पारदर्शिता होना जरूरी हैं और भगवान श्रीराम में यह सभी गुण मौजूद थे। भगवान श्रीराम अपना हर काम लगभग मैनेजमेंट के जरिए…