new education policy

डॉ. वेदप्रताप वैदिक। नई शिक्षा नीति में मातृभाषाओं को जो महत्व दिया गया है, उसमें भी मुझे चार व्यावहारिक कठिनाइयां दिखाई पड़ रही हैं। पहली, यदि छठी कक्षा तक बच्चे मातृभाषा में पढ़ेंगे तो सातवीं कक्षा में वे अंग्रेजी के माध्यम से कैसे निपटेंगे? दूसरी, अखिल भारतीय नौकरियों के कर्मचारियों…
डॉ. वेदप्रताप वैदिक। नई शिक्षा नीति का सबसे पहले तो इसलिए स्वागत है कि उसमें मानव-संसाधन मंत्रालय को शिक्षा मंत्रालय नाम दे दिया गया। मनुष्य को ‘संसाधन’ कहना तो शुद्ध मूर्खता थी। जब नरसिंहराव जी इसके पहले मंत्री बने तो मैंने उनसे शपथ के बाद राष्ट्रपति भवन में कहा कि…
प्रतीकात्मक चित्र। भारत में शिक्षा में सुधार एक बड़ा मुद्दा है, जिसके लिए केंद्र और राज्य सरकार अपने-अपने स्तर पर कोशिश करती हैं। लेकिन शिक्षा का मुद्दा जस का तस बना रहता है। यहां हम सिर्फ शासकीय स्कूलों की बात करें तो मामला शहरों में तो बेहतर है लेकिन आज…