Press "Enter" to skip to content

Prime Minister Narendra Modi

प्रतीकात्मक चित्र। भारतीय नेता कोरोना महामारी के वक्त में भी अपनी छबि बनाए रखने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। राज्यों के जनसंपर्क विभाग राज्य सरकार और नेताओं का महिमामंडन करने में व्यस्त है, जो सत्ता में मौजूद नेताओं की थोड़ी सी मदद को विहंगमय बनाकर सोशल मीडिया में…
साल 1992 यानी उदारीकरण के ठीक एक साल बाद का समय इस दौरान हिंदी सिनेमा की एक यादगार फिल्म रिलीज हुई। नाम था ‘दिल का क्या कसूर’ इस फिल्म में वैसे तो एक से ज्यादा गाने थे लेकिन एक गाना यह भी था ‘मिलने की तुम कोशिश करना, वादा कभी…
डॉ. वेदप्रताप वैदिक। पिछले एक माह से मैं निरंतर याद दिला रहा हूं, चार बातों की। एक, तबलीगी मौलाना साद की गैर-जिम्मेदाराना हरकत के लिए देश के सारे मुसलमानों पर तोहमत नहीं लगाई जानी चाहिए। दूसरी, विषाणु से लड़ने में हमारे आयुर्वेदिक (हकीमी भी) घरेलु नुस्खों का प्रचार किया जाए…

उम्मीद / जनता-कर्फ्यू के जरिए भारत जरूर जीतेगा ‘कोरोना-युद्ध’

डॉ. वेदप्रताप वैदिक। जनता-कर्फ्यू की सफलता अभूतपूर्व और ऐतिहासिक रही है। पिछले 60-70 साल में कई भारत बंद हुए हैं लेकिन ऐसा भारतबंद पहले कभी नहीं देखा गया। इस पहल का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तो है ही, इस जनता-कर्फ्यू ने यह भी सिद्ध कर दिया है कि मोदी…

ट्रंपनीति / वो आए, 21 हजार करोड़ के हेलिकाप्टर बेच गए, वो यहां क्यों आए?

डॉ. वेदप्रताप वैदिक। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की इस भारत-यात्रा से किसी भी विदेशी राष्ट्रध्यक्ष की यात्रा की तुलना नहीं की जा सकती। कुछ अर्थों में यह अप्रतिम रही है। अब तक आए किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति या किसी अन्य विदेशी नेता ने भारत और उसके प्रधानमंत्री की वैसी तारीफ…

संसद / अगले 5 साल ‘मोदी सरकार’ कैसे चलेगी? चलेगी या नहीं चलेगी?

Picture courtesy: PM Narendra Modi/Twitter डॉ. वेदप्रताप वैदिक। संसद का यह सत्र तूफानी होने वाला है, इसमें किसी को ज़रा-सा भी शक नहीं है। राष्ट्रपति के भाषण के दौरान विपक्षी सदस्यों ने जो हंगामा मचाया, वह आने वाले कल की सादी-सी बानगी है। एक अर्थ में यह सत्र तूफानी से…

स्मृति शेष / अमेरिका के इस अखबार ने कहा था उन्हें भारत की ‘सुपरमॉम’

चित्र : दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। भारत की लोकप्रिय राजनीतिज्ञ और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन हो गया है। दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका निधन 6 अगस्त, 2019 को हुआ। उन्होंने मृत्यु से कुछ घंटे पहले अपने ट्विटर अकाउंट…

बदलाव / विश्व की सबसे बड़ी शौचालय-निर्माण परियोजना को भारत की महिलाओं ने बनाया सशक्त

शर्मिला, राजस्थान के अलवर जिले की बहरोड तहसील में गादोज गांव में रहती हैं। वो और उनकी बेटियां एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश भारत में उन लाखों लोगों में से एक हैं, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी स्वच्छ भारत, मिशन का लाभ उठाया है। उनके घर…

नजरिया / सेल्फ इम्प्रूवमेंट के लिए इससे बेहतर विकल्प नहीं

खुद को बेहतर बनाने की चाहत अमूमन हम सभी में होती है। कई लोग, कई तरह से खुद को बेहतर बनाने की कोशिश करते हैं, लेकिन यदि आप सेल्फ इम्प्रूवमेंट के जरिए खुद को इम्प्रूव करना चाहते हैं तो रोज डायरी लिखिए। डायरी लिखना काफी पुराना आइडिया है, जिसके बारे…