Press "Enter" to skip to content

हमारे बारे में

संस्थापक संपादक की कलम से…

हिन्दी फीचर वेबसाइट ‘द फीचर टाइम्स’ पर प्रिय पाठकों के लिए सकारात्मक फीचर आलेख उपलब्ध हैं। यहां मन की शांति के लिए ‘अध्यात्म’ है तो जरूरी मुद्दों को विस्तार से जानने के लिए ‘सोशल हलचल’। दुनिया घूमने के शौकीन हैं तो ‘यात्रा’ है। बच्चों और युवाओं के लिए ‘करियर’ विषय पर विशेष फीचर आलेख। यदि आप कुछ ऐसे लोगों की वास्तविक कहानियां जानना चाहते हैं, जिन्होंने बहुत कम समय या जिंदगी की यात्रा में वो मंजिल हासिल की है जो आपके लिए प्रेरणा है तो यह सब कुछ ‘उड़ान’ और ‘जीने की राह’ में मिलेगा। यहां सब कुछ है, जो आप जानना चाहते हैं।

हमारा मानना है कि दुनिया में जितनी बढ़ती है खुशी, उतनी बढ़ती है इंसानियत The Feature Times पर पाएंगे अपनेपन की खुशियों वाली भावनाएं। अच्छा और सार्थक पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे साथ जहां है आपके लिए हर दिन कुछ बेहद ख़ास। ताकि आप अपने घर, समाज और देश में सकारात्मक माहौल बनाने की भूमिका में अमूल्य योगदान दे सकें।

हमारे लेखक

डॉ. वेदप्रताप वैदिक

डॉ. वेदप्रताप वैदिक की गणना उन राष्ट्रीय अग्रदूतों में होती है, जिन्होंने हिंदी को मौलिक चिंतन की भाषा बनाया और भारतीय भाषाओं को उनका उचित स्थान दिलवाने के लिए सतत संघर्ष और त्याग किया। महर्षि दयानंद, महात्मा गांधी और डॉ. राममनोहर लोहिया की महान परंपरा को आगे बढ़ाने वाले योद्धाओं में वैदिक जी का नाम अग्रणी है।

पिछले 60 वर्षों में हजारों लेख और भाषण! वे लगभग 10 वर्षों तक पीटीआई भाषा (हिन्दी समाचार समिति) के संस्थापक-संपादक और उसके पहले नवभारत टाइम्स के संपादक (विचारक) रहे हैं।अनेक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों और सम्मानों से विभूषित! विश्व हिन्दी सम्मान (2003), महात्मा गांधी सम्मान (2008), दिनकर शिखर सम्मान, पुरुषोत्तम टंडन स्वर्ण-पदक, गोविंद वल्लभ पंत पुरस्कार, हिन्दी अकादमी सम्मान, लोहिया सम्मान, काबुल विश्वविद्यालय पुरस्कार, मीडिया इंडिया सम्मान, लाला लाजपतराय सम्मान आदि। अनेक न्यासों, संस्थाओं और संगठनों में सक्रिय। वर्तमान में, वह भारतीय विदेश नीति परिषद और भारतीय भाषा सम्मेलन के अध्यक्ष हैं।

प्रो. संजय द्विवेदी

प्रो.संजय द्विवेदी, देश के जाने-माने पत्रकार, संपादक, लेखक, संस्कृतिकर्मी और मीडिया गुरु हैं। दैनिक भास्कर, हरिभूमि, नवभारत, स्वदेश, इंफो इंडिया डॉटकाम और छत्तीसगढ़ के पहले सेटलाइट चैनल जी 24 घंटे छत्तीसगढ़ जैसे मीडिया संगठनों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय, भोपाल में 10 वर्ष मास कम्युनिकेशन विभाग के अध्यक्ष, बाद में विवि के कुलपति पद पर रहे, वर्तमान में वह भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक हैं। राजनीतिक, सामाजिक और मीडिया के मुद्दों पर निरंतर लेखन। अब तक 25 पुस्तकों का लेखन और संपादन। अनेक संगठनों द्वारा मीडिया क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित।

Knowledge Partners                                                                 

  • buddy4study : It’s India’s largest scholarship platform that connects scholarship and education loan providers with seekers.

Our Spiritual Collaboration 

Amogh Lila Das

Vice President (ISKCON Dwarka,Delhi). B.Tech (Computer Science, Delhi University). Co-Faculty at IIMs Ahmadabad for teaching ‘principles ethics and morality in leadership’. Director, ISKCON Youth Forum Dwarka for the uplifting character amongst youth. Deliver weekly sessions at NSIT and DTU.

Co-Director and Corporate Trainer for V-SERVE (Vedic Solutions to Empower Resources by Value Education) – a spiritual corporate training wing. Delivered sessions on stress management, Anger management, conflict management, etc. in companies like Max New York Life, Emami, Nestle, Maruti, Holland tractors, Ernest and Young, Prakash Industries to name a few.

  • Isha foundation : It’s a non-profit spiritual organization founded & guided by Sadhguru Jaggi Vasudev. It focuses on human empowerment and social revitalization through yoga & meditation programs to attain spiritual wellbeing.

Our Initiative

‘फीचर टॉक’ ऑनलाइन मंच है, जहां हमारे पाठक फेसबुक और यूट्यूब के जरिए विभिन्न विषयों पर दुनिया के कई विषय विशेषज्ञ से संवाद कर सकते हैं।